जीने की राह / Way to live

खान सुरक्षा सप्ताह बीते अभी एक सप्ताह भी नही हुआ हैं | कितनो के सिर से हेलमेट उतर गए | साफ्टी बूट की  जगह चप्पल ने ले ली | इनको देख कर उसे अफ़सोस होता हैं , आज आदमी का क्या हाल हैं ? दिल और दिमाग का ताल – मेल सही नहीं | विवेक समाप्त हो चुका हैं | दिल में जो भी कहा , दिमाग में उस पर मोहर लगा दी |

 

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
  Subscribe  
Notify of